आपका फोन हैक तो नहीं, एक मिनट में जानिए यहां how to find out if mobile phone is hacked

23

Photo:FILE Phone hacking

केवल अपने देश की बात करें तो लगभग 84% आबादी मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रही है। इन दिनों कॉलिंग के अलावा लोग सोशल मीडिया और साथ ही कई सारे काम भी फोन के जरिए कर रहे हैं। ऐसे में फोन का सुरक्षित रहना कितना आवश्यक है, ये हम सभी जानते हैं।

इन दिनों लोग पैसे के साथ साथ डाटा को सुरक्षित रखना ज्यादा जरूरी हो गया है। हालांकि कई बार ऐसा होता है कि लोगों के फोन हैक हो जाते हैं और उन्हें इस बात की जानकारी भी नहीं होती है। अगर आपको लगता है कि आपके स्मार्टफोन को हैकर ने निशाना बनाया है तो आपको इसको नजरअंदाज बिल्कुल नहीं करना चाहिए। मतलब है कि आप निश्चित रूप से पता लगाएं और फिर जरूरी हो तो अपने डेटा की सुरक्षा के लिए सही कदम उठाएं।  जब आप अपने मोबाइल पर अजीब से पॉपअप देख सकते हैं या यह आपको लगे कि कुछ ऐप लगातार क्रैश हो रहे हैं तो यह कुछ संकेत हो सकते हैं। इन सबके बावजूद ये पता लगा पाना मुश्किल है कि फोन हैक हुआ है या नहीं। हालांकि अब आसानी से पता लगाया जा सकता है कि आपका मोबाइल फोन हैक हुआ है या नहीं।

The Techcrunch कंपनी ने एक टूल बनाया है जिसकी मदद से अब एक से दो मिनट में ये पता लगाया जा सकता है कि फोन हैक हुआ है या फिर नहीं। तो चलिए जानते हैं कि यह टूल कैसे काम करता है।

Spyware tool कैसे काम करता है

स्टेप 1: सबसे पहले एक ऐसा फोन या कंप्यूटर डिवाइस लीजिए जो पूरी तरह से सेफ हो।

स्टेप 2: इसके बाद उस डिवाइस से वेबपेज पर जाएं

स्टेप 3: जहां Enter IMEI or Ads ID लिखा है, वहाँ पर अपने फोन का IMEI नम्बर लिख दीजिए। ध्यान रहे कि IMEI नम्बर उसी फोन का हो जिस पर आपको हैक होने का संदेह है।IMEI नम्बर को फोन नम्बर से कंफ्यूज ना करें।ये असल में एक 14-15 डिजिट का नंबर है जो हर मोबाइल फोन का यूनिक नंबर होता है। इसे ढूंढने के लिए फोन पर *#06# डायल करें। IMEI नंबर आपके स्क्रीन पर दिखाई देने लगेगा। किसी किसी फोन में IMEI नंबर ढूंढने के लिए *#06#  पर कॉल करना पड़ सकता है।

अगर IMEI नंबर आईडी लीक लिस्ट से मैच करता है इसका मतलब है कि आपका फोन हैक किया गया था। अगर IMEI नंबर लीक लिस्ट से थोड़ा बहुत मैच करता है तो इसका मतलब है कि केवल बाहरी डाटा चोरी हुआ है जैसे कि डिवाइस मेनुफेक्चर का नाम। और अगर कोई भी मैच नहीं मिलता है तो इसका मतलब है कि आपके डिवाइस से कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है।

इस तरह से आप किसी भी डिवाइस के IMEI नंबर के जरिए ये पता कर सकते हैं कि उसके डाटा के साथ छेड़छाड़ किया गया है या नहीं।

Latest Business News

Previous articleरेत में फंस जाए कार तो कैसे निकाले, यह रहा शानदार तरीका How to get out a car if it gets stuck in the sand
Next articleअब नींद में नहीं पड़ेगा खलल, iPhone और Android को क्वाइट ऑवर पर ऐसे करें सेट how to stop notifications in android and iphone to have a distraction free hour

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here