क्या होता है नेफ्रोटिक सिंड्रोम? जानें इसके कारण और लक्षण

34

हाइलाइट्स

नेफ्रोटिक सिंड्रोम किडनी से संबंधित एक विकार है.
डायबिटीज भी बढ़ा सकती है नेफ्रोटिक सिंड्रोम की समस्‍या.
नेफ्रोटि‍क सिंड्रोम 2 से 6 वर्ष तक के बच्‍चों को अधिक होता है.

Cause Of Nephrotic Syndrome – नेफ्रोटि‍क सिंड्रोम किडनी से जुड़ी एक समस्‍या है. ये कोई बीमारी नहीं बल्कि कई लक्षणों का समूह है जो किडनी के सही ढंग से काम न कर पाने की वजह से होता है. ये सिंड्रोम किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन बच्‍चों में ये समस्‍या अधिक देखने को मिलती है. किडनी शरीर से यूरिन के साथ जब प्रोटीन अधिक मात्रा में निकालने लगती है तो नेफ्रोटिक सिंड्रोम होने की आशंका अधिक बढ़ जाती है. किडनी शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को निकालकर डिटॉक्‍स करने का काम करती है. जब किन्‍हीं कारणों से किडनी सही ढंग से काम नहीं कर पाती है तब किडनी में जलन और सूजन की समस्‍या हो सकती है. डायबिटीज से भी इस सिंड्रोम के बढ़ जाने का खतरा हो सकता है. चलिए जानते हैं क्‍या है नेफ्रोटिक सिंड्रोम और इसके कारणों के बारे में.

क्‍या है नेफ्रोटिक सिंड्रोम
वेब एमडी के अनुसार नेफ्रोटिक सिंड्रोम एक सामान्य समस्‍या है जो 2 से 6 वर्ष तक के बच्‍चों में अधिक देखी जाती है. किडनी शरीर को डिटॉक्‍स करने के लिए शरीर के विषैले पदार्थों को बाहर निकालने का काम करती है, लेकिन जब किडनी में मौजूद छन्‍नी के छेद बड़े हो जाते हैं तब किडनी यूरिन के साथ प्रोटीन को भी बाहर निकालने लगती है. प्रोटीन की कमी के कारण नेफ्रोटिक सिंड्रोम बढ़ने लगता है. प्रोटीन की कमी के कारण पेट में सूजन व दर्द, आंखों की समस्‍या और कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ सकता है. नेफ्रोटिक सिंड्रोम किडनी के साथ आंखों और स्किन पर भी प्रभाव डालने लगता है.



नेफ्रोटिक सिंड्रोम के कारण
–  डायबिटीज के बढ़ने से
–  किडनी का सही ढंग से काम न करना
–  पानी की कमी
–  दवाइयों का साइड इफेक्‍ट
–  जेनेटिक प्रॉब्‍लम
–  हेपेटाइटिस बी और सी
–  किडनी में सूजन

इसे भी पढ़ें: खाने के बाद पेट में जलन और दर्द से रहते हैं परेशान, तो ये उपाय अपनाएं

नेफ्रोटिक सिंड्रोम के लक्षण
–  कमजोरी
–  थकान
–  भूख न लगना
–  अचानक वजन बढ़ना
–  स्किन पर घाव व चकत्‍ते पड़ना
–  यूरिन में झाग आना
–  लाल या डार्क पीली यूरिन होना
–  स्किन में ड्राइनेस
–  कोलेस्‍ट्रॉल का बढ़ना

ये भी पढ़ें: बालों की मजबूती और खूबसूरती के लिए इस तरह इस्तेमाल करें भृंगराज

नेफ्रोटिक सिंड्रोम से परेशानी
–  ब्‍लड क्‍लॉट
–  हाई ब्‍लड प्रेशर
–  हाई कोलेस्‍ट्रॉल
– किडनी फेलियर
– किडनी डैमेज
–  निमोनिया
–  मेनिनजाइटिस

Tags: Health, Kidney disease, Lifestyle

Previous articleभारत के सामने हाथ फैलाने को मजबूर हुआ पाकिस्तान, भूखी जनता का पेट भरने के लिए मांगी मदद Pakistan was forced to take help form India to protect his hungry people
Next articleएक ‘लैगून’ का $330,000 परिवर्तन जो कभी एक प्रसिद्ध अभिनेत्री का था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here