भारत ने आखिरी 12 गेंद में पलटी बाजी, हार्दिक बोले- मुझसे ज्यादा दबाव नवाज पर था

11

हाइलाइट्स

भारत ने आखिरी 12 गेंद में पलटी बाजी
हार्दिक बोले- मुझसे ज्यादा दबाव नवाज पर था
भारतीय टीम को 5 विकेट से मिली जीत

नई दिल्ली. एशिया कप 2022 (Asia Cup 2022) के अपने पहले ही मुकाबले में भारतीय टीम को शानदार जीत मिली है. ब्लू आर्मी ने बीते रविवार को पाकिस्तान के साथ दुबई में खेले गए अहम मुकाबले में पांच विकेट से जीत हासिल की. मैच के हीरो ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) रहे. उन्होंने टीम के लिए इस मुकाबले में पहले-पहल गेंदबाजी से अपनी उपयोगिता साबित की. इसके बाद बल्लेबाजी में जमकर हाथ दिखाते हुए टीम को जीत के दहलीज तक पहुंचा दिया. भारत-पाक (India vs Pakistan) मुकाबले में ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए उन्हें ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया.

मैच के बाद उन्होंने इस मुकाबले के बारे में दिल खोलकर बातचीत की. ऑलराउंडर खिलाड़ी ने कहा, ‘परिस्थिति का आकलन करना और अपने स्किल्स का सही तरह से उपयोग करना महत्वपूर्ण है. जब बल्लेबाजी की बात आती है तो मैं मौके लेता हूं और उस दौरान गंभीर हो जाता हूं. मैं अच्छी तरह से वाकिफ हूं कि हार्ड लैंथ मेरी ताकत है. मुझे ज्ञात था कि नवाज का एक ओवर शेष हैं, जब हमें सात रनों की जरूरत थी. इस दौरान अगर मुझे 15 रन भी बनाने होते तो मैं मौका लेने से नहीं चूकता.’

यह भी पढ़ें- IND vs PAK: वसीम जाफर ने पाक टीम की उड़ाई खिल्ली, VIDEO शेयर कर ऐसे लिए मजे

उन्होंने आगे कहा, ‘मैं जानता था मेरे खिलाफ 20वां ओवर डालते हुए मुझसे ज्यादा गेंदबाज के उपर प्रेशर था. ये घमंड नहीं है, मैंने गेंदबाजों से ज्यादा चांस लिए. 15 ओवर समाप्त होने के बाद हम लक्ष्य से काफी पीछे चल रहे थे. आगे के ओवरों में चांस लेना बेहद जरुरी था. मुझे पता था विपक्षी टीम के लिए एक गेंदबाज डेब्यू कर रहा है. वहीं दूसरा गेंदबाज स्पिनर होगा. आखिरी ओवर में हमें केवल एक छक्के की जरूरत थी. मैं केवल अपने गेम पर ध्यान दे रहा था और चीजे सरल रखने की कोशिश कर रहा था.’

वहीं जतिन सप्रू के साथ हुए खास बातचीत में उन्होंने कहा, ‘मैच के दौरान मैंने जडेजा से कहा था कि मुझे मैच को आखिरी गेंद तक ले जाना नहीं पसंद है. इसलिए जब वह छक्का मारने के प्रयास में आउट हुए तो उस दौरान मेरा ऐसा रिएक्शन ऐसा आ गया था.’

इसके अलावा उन्होंने पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी की चर्चा करते हुए कहा, मैंने माही भाई से काफी कुछ सीखा है. ऐसी कठिन परिस्थितियों में दिमाग को शांत रखकर मैच को आसानी से समाप्त किया जा सकता है. मैं लगातार इसपर काम कर रहा हूं.

आखिरी दो ओवरों में पलटी बाजी:

बता दें पंड्या ने जडेजा के साथ मिलकर 18वें ओवर में भारत के स्कोर को 127 रन तक पहुंचा दिया था. अब आखिरी 12 गेंद में 21 रन की दरकार थी. 19वां ओवर हारिस रउफ फेंकने आए. हार्दिक ने इसी ओवर में गियर बदला और तीन चौके ठोक कर भारत की मैच में वापसी करा दी. हारिस के इस ओवर में भारत ने 14 रन बटोरे. अब आखिरी 6 गेंद पर भारत को जीत के लिए 7 रन की दरकार थी. लेकिन, रवींद्र जडेजा पहली ही गेंद पर बोल्ड हो गए. लगा कि मैच का पासा फिर पलट जाएगा. अगली 2 गेंद में भारत ने 1 रन बनाया. लेकिन, चौथी गेंद पर हार्दिक ने धोनी की स्टाइल में छक्का जड़ भारत को जीत दिला दी.

Tags: Asia cup, Hardik Pandya, India Vs Pakistan, Mohammad Nawaz

Previous articleIndia vs Pakistan: पाकिस्तान की वो 5 गलतियां जिनका फायदा भारत ने उठाया
Next article3 हज़ार रुपये सस्ता मिल रहा है Redmi का धांसू 5G स्मार्टफोन, मिलेगी 67W फास्ट चार्जिंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here