A Most Romantic Couples Love Story | रोमांटिक प्रेम कहानी - हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम विवेक है और मैं राजस्थान के जयपुर शहर का रहने वाला हूं। जयपुर में हमारा खुद का घर है। मेरे परिवार में मेरे माता-पिता के अलावा मेरी एक छोटी बहन (जिसका नाम रेखा) भी रहती है। मेरे पिताजी कॉलेज में अध्यापक है। घर का ऊपर का खर्चा चलाने के लिए हमने एक जनरल स्टोर की दुकान खोल रखी थी। घर में दुकान होने के कारण मेरी मां ही दुकान संभालती थी।

A Most Romantic Couples Love Story | रोमांटिक प्रेम कहानी -


मैं और मेरी छोटी बहन दोनों एक साथ एक ही कॉलेज में पढ़ने जाते थे। यह कहानी उस समय की है जब कॉलेज की छुट्टियां चल रही थी। मेरे माता-पिता किसी काम की वजह से अपने परिवार से मिलने के लिए गांव गए हुए थे। उस समय हमारे मकान पर मेरे अलावा कोई भी नहीं था क्योंकि मेरी छोटी बहन भी मेरे माता-पिता के साथ गांव गई हुई थी। मकान की साफ-सफाई और दुकान खोलने की जिम्मेदारी मेरे ऊपर थी। मैं सुबह जल्दी तैयार होकर दुकान खोलकर बैठ जाता था।

एक दिन ऐसा हुआ जिसकी वजह से मेरी जिंदगी में एक अलग मोड़ ले लिया। मैं दुकान पर ग्राहकों को सामान दे रहा था तभी एक लड़की आती है। वह लड़की देखने में बहुत ही सुंदर लग रही थी। उस दिन से पहले मैंने उस लड़की को कभी भी नहीं देखा था। वह लड़की मेरे पास आकर बोली मुझे एक किलो टमाटर और आधा किलो आलू दीजिए। उसके बाद मैंने कहा - थोड़ा इंतजार कीजिए, पहले इन ग्राहकों को सामान दे देता हूं। Romantic Couples Love Story

ग्राहकों को सामान देने के बाद दुकान पर मैं और वह लड़की ही थे। तभी उस लड़की ने कहा - आज आपकी मम्मी कहां गई है? मैंने कहा - किसी काम की वजह से मेरा पूरा परिवार गांव गया हुआ है। उस लड़की ने जवाब - तभी मैंने आपको आज पहली बार देखा है। मैंने जवाब दिया - घर पर कोई नहीं होने की वजह से दुकान मुझे ही खोलनी पड़ती है। थोड़ी देर बातें करने के बाद मैंने उस लड़की से उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम 'नीलम' बताया। उस लड़की से बातों के दौरान पता चला कि वह भी किसी दूसरे कॉलेज में पढ़ाई कर रही है।

थोड़ी देर इधर-उधर की बातें करने के बाद नीलम सामान खरीद कर अपने घर चली गई। मैंने भी उस लड़की की ओर ज्यादा ध्यान नहीं दिया था। शाम के समय मैं खाना खाने के बाद बिस्तर पर लेटा हुआ था तभी मेरे पिताजी ने मुझे कॉल करके कहा - विवेक बेटा! हमको वापस आने में अभी 5-6 दिन और लगेंगे, इसलिए तुम घर की साफ सफाई और दुकान को खोलना बिल्कुल भी मत भूलना। मैंने कहा - जी पिताजी जरूर, परंतु आप सभी जल्दी आ जाना। उसके बाद पिताजी कॉल डिस्कनेक्ट कर देते हैं। Romantic Couples Love Story

मेरे घर वालों की वापस नहीं आने तक सब काम मुझे ही करना था। इसलिए मैं रोजाना की तरह सुबह जल्दी उठकर घर का पहुंचा लगाता और खाना खाने के बाद दुकान खोल कर बैठ जाता था। वह लड़की भी मेरी दुकान खोलते ही आ जाती थी। उस दिन उसने कुछ सामान लिया था और पैसे देने के लिए अपने मोबाइल से क्यूआर कोड स्कैन कर रही थी। परंतु क्यूआर कोड काम नहीं कर रहा था इसलिए उसने मुझसे नंबर मांगे ताकि पैसे मेरे फोनपे अकाउंट में डाल सके।

उस दिन मैंने और नीलम ने लगभग 20 मिनट तक बातें की थी। जब हम दोनों बातें कर रहे थे तो मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं नीलम को पहले से ही जानता हूं। मुझे नीलम से एक अजीब सा लगा हो गया था। जब भी वह मेरी दुकान से सामान लेकर वापस जाती तो पीछे मुड़कर जरूर देती थी। उसके पीछे मुड़कर देखने की अदा ने ही मुझे दीवाना बना दिया था। सिर्फ 2 दिन की मुलाकात की वजह से ही मैं नीलम को पसंद करने लग गया था। Romantic Couples Love Story

शाम को दुकान बंद करने के बाद घर में खाना बना रहा था। तभी मुझे व्हाट्सएप पर एक अनजान नंबर से मैसेज आता है उसमें लिखा हुआ - हाय कैसे हो? मैंने लिखा - ठीक हूं, लेकिन आप कौन बोल रहे हो? वापस उसने लिखा - जरा पहचानो कौन बोल रहे हैं। मैंने जवाब दिया - मैं अभी कुछ काम कर रहा हूं इसलिए आपसे बाद में बात करता हूं। उसके बाद मैं खाना बनाने लग जाता हूं। थोड़ी देर बाद में पूरी तरह से फ्री हो जाता हूं और व्हाट्सएप खोल कर उसे से बातें करने लगता है।

मैंने व्हाट्सएप पर उससे पूछा - जरा अपना नाम बताइए, मैं आपको पहचान नहीं पाया हूं। उसने जवाब दिया - मैं आपको अच्छी तरह से जानती हूं और आप भी मुझे अच्छी तरह से पहचानते हैं। मैं बिल्कुल भी समझ नहीं पा रहा था कि आखिरकार मुझसे व्हाट्सएप पर यह सब बातें कौन कर रहा है। जब भी मैं उससे उसका नाम पूछता तो वह पहचानने के लिए बोलने लगती थी। उसके द्वारा लिखे गए मैसेजों से मुझे पता चल गया था कि आखिरकार कोई लड़की है, लेकिन नाम, पता नहीं बता रही है। फिर मैंने थोड़ा कड़क होकर मैसेज लिखा - अगर आपने मुझे अपना नाम नहीं बताया तो मैं आपको ब्लॉक कर दूंगा। Romantic Couples Love Story

उसके बाद उस लड़की ने मैसेज लिखा - अरे यार, नीलम बोल रही हूं। अब पहचान गए हो या नहीं। मैंने जवाब - हां, अच्छी तरह से पहचान गया हूं। मैंने फिर से लिखा - इतना परेशान करने की क्या जरूरत थी, तुम अपना नाम मुझे पहले भी बता सकती थी। नीलम ने लिखा - मैं सिर्फ देखना चाहते कि तुम मुझे पहचानते हो या नहीं। मैं - कैसे पहचानता प्रोफाइल पर फोटो भी किसी क्यूट बेबी की लगा रखी है और तुम्हारे नंबर मेरे पास पहले से नहीं थे। नीलम - खाना खा लिया? मैंने जवाब दिया - हां खाना तो खा लिया है अब तो सोने जा रहा हूं।

उसके बाद मैं और नीलम रोजाना व्हाट्सएप पर चैटिंग करने लगे। एक दिन नीलम दुकान पर आई और मुझे सीधे प्रपोज कर दिया। मैं भी उसको आई लव यू टू कह दिया। एक-दूसरे को प्यार करने के बाद मैं नीलम को अपनी सारी पर्सनल बातें भी शेयर कर देता था। समय गुजरने के साथ साथ हम दोनों का प्यार गहरा होता चला गया। उसके बाद मेरे मम्मी पापा भी वापस आ गए थे। इसलिए मैंने नीलम को दुकान पर आने के लिए मना कर दिया था। अब हम दोनों एक पार्क में मिलने लगे। Romantic Couples Love Story

कुछ दिनों बाद मेरा जन्मदिन था और इस बारे में जानकारी नीलम को भी थी। मेरे जन्मदिन वाले दिन मैं घर को सजाने में लगा हुआ था। मैंने अपने दोस्तों के साथ-साथ नीलम को भी शाम को पार्टी में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। मेरे सभी दोस्त आ चुके थे लेकिन मुझे नीलम के आने का इंतजार था। मैं दरवाजे पर खड़ा होकर टकटकी लगाए रास्ते की ओर देख रहा था। मेरे सभी दोस्त मुझे केक काटने के लिए कह रहे थे लेकिन मेरा दिल सिर्फ नीलम के आने का इंतजार कर रहा था।

कुछ देर बाद नीलम आ जाती है। उस दिन नीलम सलवार सूट में बहुत सुंदर लग रही थी। उसके सिर के बाल खुले हुए थे और होठों पर लगा गुलाबी लिपस्टिक मुझे उसकी ओर खींच रहा था। मुझसे रहा नहीं गया और मैंने नीलम के पास खड़ा होकर उससे कहा - सच कहूं तो आज बहुत सुंदर लग रहे हो। आज से पहले मैंने तुम्हें कभी नहीं इतने गौर से नहीं देखा। नीलम ने कहा - सिर्फ तुम्हारे लिए ही इतना सज-धजकर आई हूं। चलो अब केक काटो। Romantic Couples Love Story

उसके बाद में केक काटने लग जाता हूं और मेरे सभी दोस्त हैप्पी बर्थडे टू यू कहने लगे। केक काटने के बाद सभी ने मुझे गिफ्ट दिया लेकिन नीलम के जैसा गिफ्ट किसी का भी नहीं था। सर्दी के मौसम में मेरा जन्मदिन होने की वजह से नीलम ने मुझे अपने हाथ का बना हुआ स्वेटर दिया था। जब मैंने उस स्वेटर को खोलकर देखा तो उसमें हम दोनों के नाम लिखे हुए थे। उसके बाद नीलम ने मुझसे कहा - यह हम दोनों के प्यार की निशानी है जो मैंने खुद अपने हाथों से बनाई है। इसे कभी भी अपने से दूर मत करना।

मेरे इस गिफ्ट को देखकर सभी लोग समझ गए थे कि मैं और नीलम एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं। मेरी छोटी बहन थोड़ी शरारती थी इसलिए उसने गिफ्ट को दोबारा खोल कर देखा। गिफ्ट को देखने के बाद उसने सभी के सामने नीलम को भाभी कहकर बुला लिया। रेखा के द्वारा भाभी कहकर पुकारने के कारण नीलम शरमा गई थी और कमरे के अंदर चली गई। सच कहूं तो रेखा ने सबके सामने हम दोनों के प्यार का ढिंढोरा पीट दिया था। Romantic Couples Love Story

उस दिन मुझे रेखा पर बहुत गुस्सा आया था लेकिन उसने बिल्कुल सही किया था। रेखा ने ही मेरे माता-पिता को शादी के लिए मनाया था। मेरे घर वालों के द्वारा नीलम के घर से चले जाने के बाद पहले तो नीलम के पिताजी ने मना कर दिया था। लेकिन जब नीलम के पिताजी को हम दोनों के प्यार के बारे में पता चला तो उन्होंने भी हां कर दिया था। उसके बाद बड़ी धूमधाम से हम दोनों की शादी कर दी गई थी। आज रेखा की वजह से ही हम दोनों एक-दूसरे के साथ है। Romantic Couples Love Story

Also Read - Sweet Romantic Love Story In Hindi | प्यार की शुरुआत शॉपिंग मॉल से 

विवेक और मीनाक्षी की प्रेम कहानी - Best Romantic Couples Love Story In Hindi

Previous Post Next Post