A Short Romantic Love Story In Hindi | सच्चे प्यार की लव स्टोरी - दोस्तों आज भी 18 दिसंबर 2020 की तारीख मुझे अच्छी तरह से याद है। मेरा नाम अभिषेक है और मैं जयपुर शहर में रहता हूं। उस समय मैं दिल्ली में था और अपने दोस्तों से मिलने के लिए काफी उतावला हो रहा था। कॉलेज से निकलने के बाद मैं अपने दोस्तों से लगभग 4 साल बाद पहली बार मिलने जा रहा था। हम सब ने मोबाइल पर एक दूसरे से बात करके दिल्ली के एक होटल में मिलने का प्लान बनाया था।

A Short Romantic Love Story In Hindi | सच्चे प्यार की लव स्टोरी - 


मैं रेलवे स्टेशन से ऑटो में बैठ कर बताई जगह पर पहुंच गया था और वहां खड़े होकर अपने दोस्तों के आने का इंतजार कर रहा था। मेरे तीनों दोस्त ओमेंद्र, पवन और उधम एक साथ खुद की गाड़ी से आ रहे थे। ओमेंद्र और उधम दोनों शरीर से काफी हष्ट-पुष्ट थे जबकि मैं और पवन शरीर से बहुत दुबले पतले थे। 4 साल बाद कॉलेज के दोस्तों से मिलना मेरे लिए बहुत उत्तेजक था। मैं आपको पता भी नहीं सकता कि उस समय मुझे कितनी खुशी मिल रही थी।

कुछ ही देर बाद मेरे तीनों दोस्त आ जाते हैं। गाड़ी से उतरते ही तीनों मेरे गले से लग गए, उस समय मेरी आंखों में आंसू आ गए थे। उनके मिलने के बाद मुझे उनकी पुरानी बातें याद आने लग गई क्योंकि पवन कॉलेज के दिनों में बहुत ही शरारती था। वह हमेशा कॉलेज की लड़कियों के साथ मजाक किया करता था। कुछ देर बाहर खड़े होकर बातें करते रहे उसके बाद हम चारों होटल के कमरे के अंदर चले गए। A Short Romantic Love Story In Hindi

हमने होटल के अंदर एक ही कमरा बुक किया था क्योंकि 4 साल बाद मिल रहे हैं तो एक दूसरे से दूर नहीं रहना चाहते थे। कमरे के अंदर जाने के बाद हम फ्रेश होने के बाद बैठकर बातचीत करने लगे। तभी पवन ने कॉलेज की बातें याद दिलाकर पुरानी यादों को ताजा कर दिया। हम कॉलेज की खूबसूरत लड़कियों के बारे में, रामू काका के छोले भटूरे खाने और भी बहुत सारी बातें कर रहे थे।

जब शादी की बात आई तो तीनों ने जवाब दिया कि सबसे पहले तुम्हारी शादी होगी। उसके बाद हम तीनों शादी के बारे में सोचेंगे। हम चारों ने कभी भी शादी के बारे में सोचा ही नहीं था कि जीवन की इस यात्रा को पूरा करने के लिए जीवन साथी की जरूरत पड़ेगी। सच कहूं तो मैं और पवन शादी करने की बात को लेकर बहुत तैयार थे। तभी ओमेंद्र ने कहा - हम सब आईटी क्षेत्र से हैं और हमेशा इंटरनेट पर लगे रहते हैं। मैंने कहा - तुम्हारे कहने का क्या विचार है खुलकर बताइए। A Short Romantic Love Story In Hindi

तभी उधम ने कहा - जब हम सभी रोजाना इंटरनेट यूज करते हैं तो शादी के लिए भी तो इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। तभी पवन ने कहा - तुम्हारा मतलब है shaadi.com जैसी वेबसाइट पर लड़कियां ढूंढना। ओमेंद्र ने कहा - हां बिल्कुल सही है, क्या पता कोई अच्छी लड़की मिल जाए। हम चारों बैठ कर बातें कर रही थी तभी ओमेंद्र अपने बैग से लैपटॉप निकालकर बीच में रख देता है और कहता है - शादी की वेबसाइट की शुरुआत सबसे पहले अभिषेक से की जानी चाहिए।

मेरे मना करने के बावजूद भी तीनों दोस्त शादी की वेबसाइट पर मेरी एक प्रोफाइल तैयार कर देते हैं। उस रात हम सभी ने लगभग रात भर बातें की थी इसलिए सुबह जल्दी उठ नहीं पाए थे। फिर सभी ने 1 दिन और रुक कर मौज मस्ती करने के बारे में सोचा। इस बात पर भी किसी को कोई एतराज नहीं था इसलिए हम सभी एक दिन और उस होटल में रुक गए। उस रात भी हमने कई सारी लड़कियों के बारे में बातचीत की थी जो हमारी टाइम पर कॉलेज में पढ़ाई करती थी। A Short Romantic Love Story In Hindi

सुबह हम चारों तैयार होकर बाहर से निकल गए थे। ओमेंद्र ने कहा - तुम रेलवे स्टेशन तक ऑटो से मत जाना, हम सभी तुम्हारे साथ चल रहे हैं। तुम्हें स्टेशन पर छोड़कर हम दूसरे रास्ते से निकल जाएंगे। मैंने कहा - ठीक है थोड़ी दूर और तुम्हारा साथ तो मिलेगा। उसके बाद हम चारो एक गाड़ी में बैठ कर रेलवे स्टेशन पर पहुंच जाते हैं। कुछ ही देर में ट्रेन आ गई थी और फिर एक बार हम चारों गले मिले थे। एक दूसरे से बिछड़ते समय हमारी आंखों में आंसू आ गए थे।

मैं सबको Bye बोल कर आंखों में आंसू लिए ट्रेन में चढ़ गया। उसके बाद मैं ट्रेन के डिब्बे के गेट पर खड़ा होकर अपने दोस्तों को हाथ के सारे से विदा करता रहा। फिर ट्रेन वहां से चल पड़ी और मैं अगली सुबह जयपुर पहुंच गया। मेरे जयपुर पहुंचने के बाद सभी ने मुझे कॉल करके बताया कि अपने-अपने ठिकानों पर बिना कोई परेशानी के पहुंच चुके हैं। घर आने के बाद मैंने अपनी ऑफिस का काम शुरू कर दिया था। A Short Romantic Love Story In Hindi

एक दिन मैं काम नहीं होने के कारण ऑफिस में बैठकर हमारे द्वारा खींची गई फोटो को देख रहा था। इन फोटो को हमारे मिलने के दौरान पवन ने मुस्कुराते हुए खींचा था। उसी समय मैं अपने दोस्तों के द्वारा शादी वाली वेबसाइट पर मेरी प्रोफाइल तैयार की गई थी उसको खोल रहा था। जैसे ही मैंने लॉगिन किया तो मेरे सामने कुछ लड़कियों की फोटो के साथ उनकी जानकारी आने लगी। उनमें से कुछ लड़कियां मुझे बहुत पसंद आ रही थी।

तभी अचानक मेरी नजर नीचे वाली लड़की की प्रोफाइल पर पड़ी। वह लड़की देखने में बहुत सुंदर लग रही थी। उस लड़की की खूबसूरती देखने के बाद मुझे किसी और लड़की को देखने में इंटरेस्ट नहीं रहा था। मेरी प्रोफाइल में दोस्तों ने साफ तौर पर लिखा था कि मैं अपने काम के लिए विदेश जाता रहता हूं। उस समय मैंने कई सारी लड़कियां देखी थी जो मुझे पसंद भी आई थी। A Short Romantic Love Story In Hindi

उन सभी सुंदर लड़कियों से बात करने के लिए मुझे वेबसाइट का प्लान लेना जरूरी था और प्लान लेने के लिए लगभग ₹3000 का भुगतान करना था। उन सभी लड़कियों को देखने बाद मुझसे रहा नहीं गया और मैंने साल भर का प्लान ले लिया। अब मुझे उस वेबसाइट पर जो भी लड़कियां पसंद आ रही थी मैंने उन पर अपनी रूचि जताने वाला बटन दबा दिया था। शादी वाली वेबसाइट पर मैं पहली बार इतनी लड़कियों को पसंद कर रहा था।

जब भी मैं उस वेबसाइट का इनबॉक्स खोल कर देखता मुझे कोई जवाब नहीं मिलता था। जो लड़कियां मुझे बहुत पसंद थी, उन्होंने मेरे प्रस्ताव को मना कर दिया था और कुछ लड़कियों को मैंने मना कर दिया था। कुछ लड़कियों ने मेरे प्रस्ताव को स्वीकार किया था लेकिन वह मुझे बिल्कुल पसंद नहीं आई थी। रोजाना उस वेबसाइट में लगे रहने से मेरा बाकी का काम भी ठप हो गया था। समय अपनी रफ्तार से निकलता गया तो मैं शादी वाली साइट को हफ्ते में एक दो बार ही खोलता था। A Short Romantic Love Story In Hindi

कुछ लड़कियों से मैंने बात भी की थी लेकिन बातचीत के दौरान पता चला कि वे कम पढ़ी लिखी है। मैं उस लड़की की तलाश कर रहा था जो मेरी जीवनसाथी बनने के साथ-साथ ऑफिस के काम को आसानी से संभाल सके। उसके बाद मैं अपने ऑफिस के काम में व्यस्त हो गया। वेबसाइट पर लड़की ढूंढते हुए मुझे लगभग 3 महीने गुजर गए थे लेकिन एक भी लड़की मेरे करीब नहीं आई थी। एक दिन में ऑफिस में बैठा हुआ था तभी मेरे मोबाइल पर एक मैसेज आता है - हेलो मेरा नाम कीर्ति है। मुझे शादी वाली साइट से आपका मैसेज मिला था, क्या मैं तुमसे बात कर सकती हूं।

कुछ देर बाद मैंने जवाब में लिखा - कुछ ही देर में मैं आपको कॉल करता हूं प्लीज थोड़ा इंतजार कीजिए। उस लड़की ने मैसेज - हां, मैं इंतजार करती हूं। उसके बाद मैंने जल्दी से उस लड़की की प्रोफाइल को देखा। प्रोफाइल पर उस लड़की ने मुस्कुराती हुई अपनी एक फोटो लगा रखी थी जो मुझे बहुत पसंद आई। उसके बाद मैं उस लड़की के मोबाइल पर कॉल कर देता हूं। कॉल उठाने के बाद उधर से आवाज आई - हेलो। मैंने बोला - हाय, मैं अभिषेक बोल रहा हूं। अभी हमारे बीच में मैसेज के जरिए बातचीत हो रही थी। A Short Romantic Love Story In Hindi

उसके बाद हमारे बीच बातचीत शुरू हो गई। मुझे पता ही नहीं चला कि वह लड़की मेरी बातों को सुनकर मुझे पसंद करने लग जाएगी। मैंने पूछा - तुम क्या करती हो? तभी उस लड़की ने बताया - मैं दिल्ली की एक आईटी कंपनी में जॉब करती हूं और फिर हमारे बीच काफी देर तक बातचीत होती रही। सच कहूं तो मैंने पहली बार किसी लड़की से इतनी देर तक बातचीत की थी।

उस लड़की से बात करने के दौरान पता चला कि वह लड़की जयपुर शहर की ही रहने वाली है लेकिन जॉब करने के लिए दिल्ली में रहती है। उसके बाद हम दोनों के बीच रोजाना बातें होती रही। मैं खुद अपने आप को उस लड़की से बात करने से बिल्कुल भी नहीं रोक पाता था। रोजाना बात करने के कारण मैं उस लड़की को पसंद करने लग गया था। एक दिन मैंने उस लड़के से मिलने के लिए कहा तो उसने झट से हां कह दिया। A Short Romantic Love Story In Hindi

फिर क्या था मैं ट्रेन में सवार होकर दिल्ली पहुंच गया। लड़की से पहली बार आमने-सामने मुलाकात करने पर थोड़ा डर लग रहा था लेकिन हिम्मत जुटा कर चला गया था। उसके बाद वह लड़की मेरी बताई हुई जगह पर आ जाती है। जब मैंने उस लड़की को अपनी आंखों से देखा तो देखता ही रह गया और एक लंबी सांस ली। मन ही मन सोचा इतनी खूबसूरत लड़की इस जीवन में पहले क्यों नहीं आई।

उसके बाद हम दोनों पास के एक रेस्टोरेंट में कॉफी पीने चले गए और कॉफी पीते हुए ही मैंने कीर्ति को प्रपोज कर दिया। कीर्ति ने मेरे प्रपोजल को स्वीकार करके मुझे हग किया था। फिर कीर्ति ने मुझसे कहा - चलो मेरे घर चलते हैं। मैंने कहा - आज नहीं, कभी दोबारा आपके साथ घर जरूर चलूंगा। इसके बाद मैंने और कीर्ति ने रेस्टोरेंट में बैठकर बहुत देर तक बातें की। उसके बाद मैंने कीर्ति से कहा - अब मैं चलता हूं, मुझे किसी क्लाइंट से भी मिलना है। मैं एक बार फिर से कीर्ति को अपने गले से लगाया और वहां से रवाना हो गया। A Short Romantic Love Story In Hindi

फिर हम दोनों के बीच व्हाट्सएप पर बातें होने लगी। हम दोनों को सुबह-शाम एक दूसरे को गुड मॉर्निंग और गुड नाईट बोलना बिल्कुल भी नहीं भूलते थे। इस तरह हम दोनों के प्यार को लगभग 6 महीने बीत गए थे। उसके बाद मैंने ओमेंद्र, उधम और पवन को कॉल करके कीर्ति के बारे में सब कुछ बता दिया। मेरी और कीर्ति की लव स्टोरी को सुनकर तीनों बहुत खुश हुए। तीनों ने मुझसे सिर्फ एक ही बात ही कही थी - भाई शादी कर लेना और हमें बुलाना बिल्कुल भी मत भूल जाना।

इसके बाद कीर्ति मुझे एक बार फिर अपने परिवार के सदस्यों से मिलने के लिए दिल्ली बुलाया था। कीर्ति के जिद करने के बावजूद में उनके घरवालों से मिलने के लिए दिल्ली पहुंच गया। ऑफिस में काम होने की वजह से मैं उस दिन अपनी खुद की कार लेकर गया था ताकि आने जाने का समय अधिक बर्बाद ना हो। कीर्ति के घर जाने के बाद सब लोगों ने मेरा जोरदार स्वागत किया। कीर्ति के परिवार के सदस्यों की बोलचाल का तरीका और उनका व्यवहार मुझे बहुत पसंद आया। A Short Romantic Love Story In Hindi

मुझे देखने के बाद कीर्ति के घरवालों ने हम दोनों की शादी की बात करने के लिए पिताजी को बुलाने के लिए कहा। तब मैंने कहा - कुछ दिनों में मैं पिताजी को भेज दूंगा। लगभग 15 दिन बाद में अपने पिताजी और मां को कीर्ति के घरवालों से मिलने के लिए भेज देता हूं। उसके बाद मेरी और कीर्ति की शादी तय कर दी जाती है। हम दोनों की शादी तय हो जाने की खबर तीनों दोस्तों को दे दी थी।

हम दोनों की शादी का पूरा प्रोग्राम मैरिज पैलेस में ही रखा गया था। शादी वाले दिन सभी मेहमान आ चुके थे लेकिन मैं अभी भी गेट पर खड़ा होकर मेरे तीनों दोस्तों के आने का इंतजार कर रहा था। इंतजार करते हुए मैं पूरी तरह से थक चुका था तभी मैं उन्हें कॉल करके पूछता हूं तो उधर से जवाब मिलता है - हम तुम्हारे घर पहुंच गए हैं और सामान रखकर जल्द ही तुम्हारे पास आ रहे हैं। उसके बाद मैं अपना कॉल डिस्कनेक्ट कर देता हूं। A Short Romantic Love Story In Hindi

कुछ देर बाद मेरे तीनो दोस्त मेरे पास पहुंच जाते हैं। उन तीनों को एक साथ देख कर मैं काफी खुश हो रहा था। हम सभी दोस्तों के लिए यह दूसरा मौका था जब हम साल भर के अंतराल के बाद दोबारा मिल रहे थे। उसके बाद मैं और कीर्ति स्टेज की कुर्सियों पर जाकर बैठ जाते हैं। मेरा दोस्त पवन मेरे पास आता है और फोटो खींचने लगता है। फिर मैं अपने तीनों दोस्तों को पास में बुला लेता हूं और एक साथ फोटो खिंचवाने लगते हैं। उस दिन मैंने अपने दोस्तों से आने के बाद बहुत एंजॉय किया था। मेरी शादी वाला दिन मेरे लिए बहुत ही स्पेशल दिन था।

उसके बाद मैंने और कीर्ति ने अग्नि के साथ फेरे लेकर एक दूसरे को पति पत्नी के रूप में स्वीकार कर लिया था। मुझे दूल्हे की ड्रेस में देख कर मेरे सभी दोस्त बहुत खुश हो रहे थे। शादी हो जाने के बाद मैं कीर्ति के कमरे में गया और उसे समझाया कि आज मैं अपने दोस्तों के साथ रात भर बाहर रहूंगा इसलिए तुम मेरा इंतजार मत करना। कीर्ति ने कहा - लेकिन अभिषेक आज तो हमारी सुहागरात है। A Short Romantic Love Story In Hindi

कीर्ति की इस बात को सुनकर मैंने कहा - अब हम दोनों पूरी उम्र एक साथ रहेंगे लेकिन मेरे दोस्त कल ही वापस चले जाएंगे। तुम तो अच्छी तरह से जानती हो कि मेरे दोस्त साल भर में सिर्फ एक बार ही एक-दूसरे से मिल पाते हैं। इस तरह कीर्ति को समझाने के बाद मैं अपने दोस्तों के पास आ पहुँचा। तीनों दोस्त मुझे देखकर कहने लगे - अभिषेक आज तो तुम्हारी सुहागरात है फिर तुम यहां क्यों आए हो? मैंने कहा - कीर्ति तो जीवन भर मेरे साथ रहेगी तुम तो कल ही छोड़कर चले जाएंगे।

उसके बाद ओमेंद्र ने कहा - अभिषेक आज की रात तुम्हें कीर्ति के साथ रहना बहुत जरूरी है इसलिए तुम यहां से जाओ। मैंने जवाब दिया - नहीं यार, मैं कीर्ति के लिए तुम्हें भुला नहीं सकता हूं। तभी पवन ने कहा - हम कल भी यही रुकेंगे। अब तुम कीर्ति के पास जाओ बेचारी तुम्हारा इंतजार कर रही होगी। मुझे काफी समझाने के बाद तीनों दोस्त वापस कीर्ति के पास भेज देते हैं। मैंने वापस आने की खबर कीर्ति को दे दी थी इसलिए उसने पहले ही दरवाजे का लॉक खोल दिया था। A Short Romantic Love Story In Hindi

मेरे अंदर आने के बाद कीर्ति ने - तुम आने की मना करके गए थे। मैंने कहा - मेरे दोस्त काफी समझदार है इसलिए उन्होंने मुझे वापस भेज दिया। उसके बाद मैं और कीर्ति रोमांटिक भरी बातें करने लगे। सच कहूं तो उस दिन कीर्ति भी दुल्हन की ड्रेस में बहुत सुंदर लग रही थी। उस रात में और कीर्ति लगभग 2:00 बजे सोए थे। एक दूसरे से बातें करते समय पता ही नहीं चला कि कब 2:00 बज गए।

अगले दिन हम सभी दोस्त मेरे मकान की छत पर बैठकर बातचीत कर रहे थे। तभी उधम मुझसे कहता है - अभिषेक भाई, कीर्ति जैसी लड़की अगर मुझे भी मिल जाए तो मैं भी शादी कर लूंगा। मैंने कहा - भाई तुम तीनों की वजह से ही तो मुझे कीर्ति मिली है। अगर उस दिन तुम दिनों शादी वाली साइट पर मेरी प्रोफाइल पर तैयार नहीं करते तो शायद आज कीर्ति मेरे साथ नहीं होती।

उस दिन हम तीनों ने बहुत देर तक बातें की थी और एक दूसरे के साथ फोटो भी खिंचवाई थी। उन फोटो में कीर्ति भी हमारे साथ थी। शाम के समय तीनों मेरे घर से विदा लेकर अपने-अपने घर के लिए रवाना हो गए। जब हम चारों एक दूसरे से अलग हुए तो हमारी आंखों में आंसू आने लग गए। उसके बाद मैंने भी अपनी ऑफिस के काम पर फोकस देना शुरू कर दिया। कीर्ति भी मेरी ही ऑफिस में काम करने लग गई थी। A Short Romantic Love Story In Hindi

लगभग दो माह बाद मैंने ऑफिस का पूरा काम कीर्ति के हाथों में थमा दिया और एक नया बिजनेस शुरू किया था। अब मेरे ऑफिस के काम को कीर्ति ही संभालती है। सच कहूं तो कीर्ति जैसी लड़की को अपना जीवनसाथी बनाकर में अपने आप को खुशकिस्मत मानता हूं। अगर मेरे दोस्त नहीं होते तो शायद मुझे कीर्ति जैसी लड़की बिल्कुल भी नहीं मिल पाती। मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूं कि मेरे तीनों दोस्तों को कीर्ति जैसी सुंदर और सुशील लड़की मिले जो उनकी हर भावना को समझें।

जब भी इस लव स्टोरी को मेरे दोस्त पढ़ेंगे तो उन्हें मेरी याद जरूर आएगी। मैं उम्मीद करता हूं कि आपको मेरी यह A Short Romantic Love Story In Hindi बहुत पसंद आई होगी। इस प्रकार की नई रोमांटिक लव स्टोरी पढ़ने के लिए हमारे साथ हमेशा जुड़े रहे। दोस्तों अगर इस कहानी को लिखने में मुझसे कोई गलती हुई हो तो मैं उसके लिए आपसे माफी मांगता हूं।

Read More - एक पुलिस ऑफिसर की प्रेम कहानी | Police Officer Ki Romantic Love Story In Hindi

सच्चे प्यार की लव स्टोरी A Short Love Story in Hindi

Previous Post Next Post