True Romantic Love Story in Hindi | सच्चे प्यार की अनोखी प्रेम कहानी - दोस्तों यह प्रेम कहानी उन दिनों की है जब आरव और ईशानी कॉलेज में एक साथ पढ़ाई करते थे। पड़ोसी की होने की वजह से दोनों एक दूसरे को अच्छी तरह से जानते थे। पढ़ाई करने के लिए आरव और इशानी एक साथ कॉलेज जाते थे। दोनों अच्छे दोस्त होने की वजह से एक दूसरे से मिलते रहते थे। एक ही क्लास में पढ़ने की वजह से दोनों को पता ही नहीं चला कि उनके बीच कब प्यार हो गया। 

True Romantic Love Story in Hindi | सच्चे प्यार की अनोखी प्रेम कहानी -

कॉलेज में पढ़ाई करने के साथ-साथ ईशानी और आरव एक दूसरे को बहुत पसंद करने लग गए। दोनों की मुलाकात छुप-छुपकर होने लगी। उनकी दोस्ती का अचानक प्यार में बदल जाना उनके लिए बहुत अजनबी सा लग रहा था लेकिन पहले से अच्छी पहचान होने की वजह से उनके बीच कोई भी बात छुपी नहीं थी। आरव और इशानी शाम के समय एक गार्डन में जाकर मिलते थे। 

ईशानी की शादी की उम्र हो गई थी इसलिए उसके पिताजी उसके लिए एक अच्छा लड़का ढूंढ रहे थे। ईशानी के लिए लड़का ढूंढने की बात आरव को पता नहीं थी। दोनों सुबह के समय कॉलेज आते और शाम को पढ़ाई करके वापस अपने घर चले जाते थे। इधर दोनों का प्यार परवान चढ़ चुका था। दोनों एक दूसरे के बिना एक पल भी नहीं रहना चाहते थे। कॉलेज की 1 साल कब निकल गई इसका दोनों को पता ही नहीं चला। True Romantic Love Story in Hindi

कॉलेज की छुट्टियां चल रही थी। आरव और इशानी ताजमहल देखने के लिए आगरा चले जाते हैं। उनके साथ कॉलेज के कई सारे लड़के लड़कियां भी थे। दो-तीन दिन बाद जब हम वापस अपने अपने घर पहुंचे तो पता चला कि ईशानी की शादी तय कर दी गई है। इस बात को सुनकर ईशानी को बहुत बुरा लगा लेकिन घरवालों से मना करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई थी। जब ईशानी ने आरव को कॉल करके शादी वाली बात बताई तो वह बहुत परेशान हो गया था। 

शादी की बात सुनकर ईशानी अपने कमरे के अंदर चली जाती है और आरव को कॉल करके फूट-फूट कर रोने लगती है। आरव अब किसी भी तरह से ईशानी की शादी रोकना चाहता था। ईशानी अपने कमरे में बैठ कर रो रही थी तभी उसकी मां भी वहां पहुंच जाती है। ईशा ने अपनी मां से कहती है - मां मैं किसी और लड़के से प्यार करती हूं। वह भी मुझसे बहुत प्यार करता है और हम दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते हैं। लेकिन पिताजी बिना मेरी मर्जी के किसी अनजान के साथ मेरी शादी करवाना चाहते हैं। इतना कहने के बाद ईशा ने अपनी मां की गोद में लेट कर रोने लग जाती है। True Romantic Love Story in Hindi

उसके बाद ईशानी की मां कहती है - सुबह होते ही मैं तुम्हारे पापा से बात करूंगी। सुबह के समय ईशानी अपने कमरे में बैठे हुए थे तभी इशानी की मां उनके पति को दोनों के प्यार के बारे में सब कुछ बता देती है। और कहती है - ईशानी की शादी उसकी पसंद के लड़के के साथ ही करवा दीजिए। दोनों एक दूसरे को बहुत प्यार करते हैं। अगर हम ईशान की शादी किसी और के साथ करवा देंगे तो वह कभी खुश नहीं रह पाएगी।

इतनी बात सुनने के बाद ईशानी के पिताजी कहते हैं - मैंने जिस लड़के के साथ ईशानी की शादी तय की है, वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। मैं पहले से ही उस लड़के को जानता हूं और वह बहुत अच्छा है। ईशानी की मां ने अपने पति को खूब समझाया लेकिन उन्होंने एक भी बात नहीं सुनी। इन सारी बातों को ईशानी अपने कमरे में बैठकर सुन रही थी। ईशानी के पिताजी के मना करने के बाद वह बहुत परेशान हो जाती हैं क्योंकि उसे लग रहा था कि उसकी शादी आरव से नहीं बल्कि किसी और लड़के से होने वाली है। 

शादी तय हो जाने के बाद ईशानी ने कॉलेज आना भी बंद कर दिया था और आरव से भी मिलना जुलना बहुत कम कर दिया था। आरव अपने प्यार को कठिनाइयों में घिरा हुआ देखकर बहुत परेशान हो जाता है और ईशानी को मिलने के लिए पास के गार्डन में बुला लेता है। थोड़ी देर बाद ईशानी गार्डन में पहुंच जाती हैं और देखती हैं कि सामने आरव खड़ा हुआ था। आरव को खड़ा हुआ देखकर वह दौड़ कर उसके गले लग जाती है। True Romantic Love Story in Hindi

ईशानी कहती है - मैं तुम्हारे बिना एक पल भी नहीं रह सकती हूं जबकि पिताजी मेरी शादी किसी अन्य लड़के के साथ तय कर चुके हैं। आरव ने कहा - अब हमारे पास कोई भी रास्ता नहीं है सिर्फ एक रास्ता है। अगर हम दोनों भाग कर शादी कर ले तो सब कुछ अच्छा हो सकता है। इतनी बात सुनने के बाद ईशानी ने कहा - हम दोनों भाग कर शादी नहीं करेंगे। तुम मुझे भूल जाओ और आज के बाद मुझसे मिलने की कोशिश मत करना। इतना कहने के बाद वह वहां से ऑटो में बैठकर अपने घर चली जाती है। 

आरव घुटनों के बल गार्डन में बैठ जाता है और उसकी आंखों से आंसू निकल आते हैं। किसी भी तरह अपने आप को संभाल कर आरव घर पहुंच जाता है। शाम के समय वह इशानी को कॉल करके कहता है - ईशानी, मेरी बात सुने बिना कॉल मत काटना। तभी ईशानी ने जवाब दिया - कहो क्या बात है किस लिए फोन किया है। 

आरव - मैंने जीवन में कभी भी नहीं सोचा था कि तुम किसी और से शादी करने के लिए मान जाओगी। तुम्हारे वादे और कसमें सब झूठे थे। मुझे पता होता तो मैं तुमसे प्यार ही नहीं करता। True Romantic Love Story in Hindi

ईशानी जवाब देती हैं - मैं आज भी तुमसे ही प्यार करती हूं लेकिन हम भाग कर शादी नहीं करेंगे। मेरे दिल में तुम्हारे सिवा कोई और नहीं है। इस बात को तो तुम अच्छी तरह से जानते हो कि मैं तुम्हारे बिना बिल्कुल भी नहीं रह पाऊंगी। परंतु घरवालों की जिद के सामने हमारा प्यार हार चुका है। इस प्रकार बातचीत करने के बाद ईशानी कॉल डिस्कनेक्ट कर देती है। कॉल डिस्कनेक्ट हो जाने के बाद आरव अपने आप को कौसने लगता है। 

देखते ही देखते कुछ ही दिनों के अंदर ईशानी की शादी हो जाती है। आरव ने अपने प्यार की बर्बादी को बहुत करीब से देखा था। ईशानी की शादी हो जाने के बाद और आरव पूरी तरह से टूट चुका था। उसने कॉलेज जाना तथा पढ़ना लिखना पूरी तरह से बंद कर दिया था। मैं हमेशा उदास रहने लगा। आरव ने अपने दोस्तों से मिलना जुलना बिल्कुल बंद कर दिया था। वह अपने कमरे से बाहर ही नहीं निकलता था। True Romantic Love Story in Hindi

आरव ईशानी को बहुत प्यार करता था लेकिन अपने प्यार को किसी और के हाथों में जाते हुए नहीं रोक पाया। अगर उस दिन ईशानी भाग कर शादी करने के लिए तैयार हो जाती है तो शायद आरव को आज यह दिन नहीं देखना पड़ता। समय गुजरता चला गया लेकिन आरव उस लड़की को नहीं भुला पाया। दोस्तों के काफी समझाने के बाद आरव घर से बाहर निकलना शुरू कर दिया था लेकिन जब भी वह ईशानी के घर के सामने पहुंचता तो उसकी आंखों में आंसू आ जाते थे।

उसके बाद उसके दोस्त उसे अपने साथ मुंबई ले गए। उसके दोस्तों ने सोचा कि आरव को नई जगह पर ले जाने से वह धीरे-धीरे सब कुछ भूल जाएगा। कुछ ही दिनों बाद आरव एक कंपनी में जॉब करने लग जाता है। जॉब करने के दौरान ही उसकी मुलाकात एक लड़की से होती है जिसका नाम महालक्ष्मी था। महालक्ष्मी आरव को पहली नजर में ही पसंद करने लग गई थी लेकिन वह उसकी ओर आंख उठाकर भी नहीं देखता था। अपने दोस्तों की मदद से महालक्ष्मी ने आरव को अपने प्यार का प्रपोज कर दिया। True Romantic Love Story in Hindi

महालक्ष्मी को प्रपोज किए हुए लगभग 1 सप्ताह बीत गया था लेकिन आरव ने कोई भी जवाब नहीं दिया था। महालक्ष्मी भी बहुत जिद्दी लड़की थी इसलिए उसने आरव का जब तक पीछा नहीं छोड़ा जब तक उसके मुंह से आई लव यू नहीं सुन लिया। इसके बाद दोनों के बीच बहुत रोमांटिक बातें होने लगी। ऑफिस जाने के बाद शाम के समय दोनों व्हाट्सएप पर रोमांटिक भरी चैटिंग करते थे। उसके बाद आरव धीरे-धीरे महालक्ष्मी के प्यार में ढलता चला गया। लगभग 1 साल दोनों का प्यार चला। जब दोनों एक दूसरे को अच्छी तरह से पहचान गए तो उन्होंने कोर्ट मैरिज कर ली। 

आज आरव और महालक्ष्मी एक ही कंपनी में जॉब करते हैं। उनकी शादी को लगभग 6 माह हो चुके हैं। आरव के जीवन में महालक्ष्मी के आने के बाद वह बहुत खुश रहने लगा। महालक्ष्मी गर्भवती है और कुछ दिनों बाद उनके घर में एक नया मेहमान आने वाला है। अब दोनों घर में नए मेहमान के आने का इंतजार कर रहे हैं। गर्भवती होने के बाद महालक्ष्मी ने कंपनी से जॉब छोड़ दिया था। अब दोनों पति-पत्नी के रूप में अपने जीवन में बहुत खुश है। True Romantic Love Story in Hindi

दोस्तों आशा करता हूं कि आरव और महालक्ष्मी की यह लव स्टोरी आपको बहुत पसंद आई होगी। अगर इस लव स्टोरी को लिखने में कोई गलती हो गई हो तो मैं आपसे माफी मांगता हूं। इस प्रकार की True Romantic Love Story in Hindi पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे। 

यह भी जरुर पढ़ें - सच्ची हिंदी लव स्टोरी | Cute Couples Romantic Love Story In Hindi 

खूबसूरत एक प्रेम कहानी | Beautiful Love Story In Hindi

Previous Post Next Post