Aaj Ka Shabd Chatak Shishupal Singh Nirdhan Ki Kavita Kitne Daag Lage Chadar Men – आज का शब्द: चातक और शिशुपाल सिंह ‘निर्धन’ की कविता- कितने दाग़ लगे चादर में

57

                
                                                                                 
                            'हिंदी हैं हम' शब्द श्रृंखला में आज का शब्द है- चातक, जिसका अर्थ है- पपीहा नामक पक्षी। प्रस्तुत है शिशुपाल सिंह 'निर्धन' की कविता- कितने दाग़ लगे चादर में
                                                                                                
                                                     
                            

अगर चल सको साथ चलो तुम लेकिन मुझसे यह मत पूछो
कितने चलकर आए हो तुम कितनी मंज़िल शेष रह गई?

हम तुम एक डगर के राही
आगे-पीछे का अन्तर है,
धरती की अर्थी पर सबको
मिला कफ़न यह नीलाम्बर है ।

अगर जल सको साथ जलो तुम लेकिन मुझसे यह मत पूछो,
अभी चिताओं के मेले में कितनी हलचल शेष रह गई ?

आगे पढ़ें

23 minutes ago

Previous articleEntertainment TOP-5: जैकलीन फर्नांडिस को कोर्ट का समन, ‘ब्रह्मास्त्र’ का नया वीडियो आया सामने
Next articleRam Kapoor: Intimate Scene On Tv Serial To Sunny Leone Hero In Movie – Ram Kapoor: छोटे परदे पर इंटीमेट सीन करने का राम कपूर के नाम ये रिकॉर्ड, इस फिल्म में बने सनी लियोनी के हीरो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here