Digital Banking Units (DBU) क्या हैं और इनके फायदे?

दोस्तों क्या आपने कभी सोचा है की आज से 20- 25 साल पहले जब आपको बैंक में जाना होता था तो वहां पर बहुत ज्यादा लोगों की भीड़ होती थी और आपको बहुत लंबी लाइन में लगना पड़ता था। चाहे आपका काम कितना ही छोटा या बड़ा क्यों ना हो इसमें आपका बहुत ज्यादा समय बर्बाद हो जाता था।

क्योंकि आज से 20:00 25 साल पहले न तो कोई कंप्यूटर और ना ही कोई डिजिटल का सिस्टम था और बैंक की ब्रांच भी आपस में जुड़ी हुई नहीं होती थी। अगर बैंक से जुड़ा हुआ कोई काम होता था तो आपको उसी ब्रांच में जाना होता था जिस ब्रांच में आपका बैंक अकाउंट है। 

क्योंकि उस समय डिजिटल सिस्टम नहीं था तो पैसे केवल लगदी में ही मिलते थे और साथ ही में बैंक वालों से काफी नोकझोंक भी हो जाया करती थी लेकिन दोस्तों पिछले 8 से 10 सालों में यह स्थिति पूरी तरीके से बदल गई है। अब बैंक से जुड़ा हुआ कोई भी काम हो तो कंप्यूटर या मोबाइल से डिजिटल बैंकिंग के जरिए घर बैठे ही हम कर लेते हैं।

अब आपको बता दें कि भारत ने इस दिशा में एक और कदम आगे बढ़ा लिया है जिसे जानकर आपको बहुत हैरानी होगी कि आखिर यह कौन सा डिजिटल बैंकिंग सिस्टम है। क्योंकि अब अगर आपके पास इंटरनेट नहीं है इस स्मार्टफोन नहीं या कंप्यूटर लैपटॉप नहीं है तो भी आप डिजिटल बैंकिंग कर सकते हैं इससे नई टेक्नोलॉजी का नाम है DBU (Digital Banking Units)

Digital Banking Units क्या है 

Digital Banking Units एटीएम की तरह की एक मशीन होती है, जिसके जरिये आपको बैंक में खाता खोलना हो, चाहे एटीएम कार्ड का काम हो, चाहे चेक बुक का काम हो, कहीं पर पैसा भेजना हो ऐसे कई सुविधाओं का फायदा खुद ही उठा सकते हैं 

डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स का फायदा क्या होगा? 

  • बिना फोन बिना इंटरनेट के ही आपके बैंक से संबंधित सारे काम हो जाएंगे। 
  • अब आपको बैंक में जाकर लाइन में लगने की कोई जरूरत नहीं है।
  • बैंक कर्मियों से छोटे छोटे काम के लिए उलझने का तो झंझट ही खत्म हो गया है।
  • अब आपको बैंक में खाता खोलना हो, चाहे एटीएम कार्ड का काम हो, चाहे चेक बुक का काम हो, कहीं पर पैसा भेजना हो ऐसे सभी कामों के लिए 
  • अब बैंक वालों से माथापच्ची करने का झंझट खत्म हो गया है।

दोस्तों देश के 75 जिलों में DBU (डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स) टेक्नोलॉजी की शुरुआत हो चुकी है। देश को डिजिटल बैंकिंग क्षेत्र में आगे बढ़ाने में यह एक बहुत बड़ा मील का पत्थर साबित हो सकता है क्योंकि जिस इंसान के पास कोई मोबाइल फोन नहीं है कोई इंटरनेट नहीं है वह इंसान DBU (डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स) में जाकर खुद से ही बैंकिंग कर सकता है।

डिजिटल बैंकिंग यूनिट्स पर क्या क्या काम होगा 

  • अपना बैलेंस जान सकते हैं।
  • पासबुक प्रिंट करवा सकते हैं जिसके लिए हमें पहले बैंक के चक्कर लगाने पड़ते थे और फिर सुनने को मिलता था कि आज तो प्रिंटर खराब है।
  • फंड ट्रांसफर कर सकते हैं। 
  • एफडी यानी की फिक्स डिपोजिट यार रेकरिंग डिपाजिट यानी कि आरडी भी करा सकते हैं। 
  • हमें लोन चाहिए तो लोन का फॉर्म भर सकते हैं यानी यहां से लोन भी मिल सकता है। 
  • किसी भी जारी हो चुके चेक पेमेंट को भी रुकवा सकते हैं। 
  • यहीं से हम क्रेडिट और डेबिट कार्ड के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं। 
  • कई प्रकार के बिल भी भर सकते हैं।
  • नॉमिनेशन भी कर सकते हैं। 
  • आप को बैंक जाने और वहां के कर्मचारी से बात करने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी एक आम आदमी के हाथों में उसके पूरे एकाउंट का कंट्रोल आ चुका है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने आपको बताया Digital Banking Units (DBU) क्या हैं और इनके फायदे? अगर आपको आर्टिकल अच्छा लगा हो तो जरूर आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. अगर आपको कोई भी कंफ्यूजन है तो आप कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं धन्यवाद।

Also Read:

  1. Uunchai Movie Review 2022: यारों की यारी, द‍िल को छू लेगी ‘ऊंचाई’
  2. डिजिटल करेंसी क्या है? इसके फायदे और यह कैसे काम करता है?
  3. Google, OS पर चलने वाले सभी फ़ोनों के लिए Android 13 का फोटो पिकर फीचर जारी करेगा

  4. Kedarnath Dham से मिले कलयुग अंत के Important नए संकेत 2022
  5. डेटा और Battery जल्दी खत्म करने वाली Application | Android उपयोगकर्ता – इसे जानलो 

1 thought on “Digital Banking Units (DBU) क्या हैं और इनके फायदे?”

Leave a Comment

आपको भी मिल सकता है फ्री में Android Phone – जाने कैसे Money can rain on these players in the mini-auction of IPL 2023 – know here 7 Steps to Transforming Yourself Unlimited 5G – Airtel 5G Plus & Jio True 5G What are Google web stories