Reliance AGM 2022: जियोक्लाउड PC की हुई घोषणा, छात्रों और छोटे बिजनेस के लिए होगा गेमचेंजर

21

हाइलाइट्स

रिलायंस की AGM 2022 में Jio 5G सेवाओं से जुड़ी कुछ बड़ी घोषणाएं हुई हैं.
इसी दौरान कंपनी ने एक जियोक्लाउड पीसी की घोषणा भी की है, जोकि काफी खास है.
यह एक अफॉर्डेबल क्लाउड से कनेक्टेड PC होगा, जो छात्रों और छोटे बिजनेसेज के लिए गेमचेंजर होगा.

नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की 45वीं वार्षिक आम बैठक (AGM 2022) में Jio 5G सेवाओं से जुड़ी कुछ बड़ी घोषणाएं हुई हैं. बताया गया कि एक डिवाइस के जरिए घर और ऑफिस में कहीं भी अल्ट्रा स्पीड 5जी इंटरनेट का इस्तेमाल किया जा सकेगा. इस डिवाइस को Jio AIRFIBER नाम दिया गया है. इसी दौरान कंपनी ने एक जियोक्लाउड पीसी की घोषणा भी की. यह एक अफॉर्डेबल क्लाउड से कनेक्टेड पीसी होगा. यह छात्रों और छोटे बिजनेसेज के लिए गेमचेंजर साबित होगा.

रिलायंस की AGM में एयरफाइबर का जिक्र करते हुए जियो इंफोकॉम लिमिटेड के चेयरमैन आकाश अंबानी ने कहा कि जियो 5जी की सबसे खास विशेषता इसकी अल्ट्रा-हाई-स्पीड कनेक्टिविटी होगी. उन्होंने बताया कि लोगों को बिना किसी फाइबर या वायर्स के अब जीबीपीएस की स्पीड मिलेगी. यही वजह है कि इसे एयरफाइबर नाम दिया गया है.

ये भी पढ़ें – ईशा अंबानी ने कहा- इस साल FMCG बिजनेस में उतरेगी रिलायंस रिटेल

जियो एयरफाइबर (Jio AirFiber)
आकाश अंबानी कहा, अब घर या ऑफिस को अल्ट्रा-हाई-स्पीड से कनेक्ट करना बेहद आसान होगा. उन्होंने कहा कि Jio AirFiber, Jio True 5G तकनीक पर आधारित है, जो अल्ट्रा-हाई-स्पीड इंटरनेट कनेक्शन के साथ एक वायरलेस सिंगल-डिवाइस सॉल्यूशन है. इसका उपयोग क्लाउड गेमिंग, शॉपिंग और लाइव स्पोर्ट्स स्ट्रीमिंग के लिए भी किया जा सकता है. लाइव स्पोर्टिंग एक्शन के दौरान, Jio AirFiber हाई-डेफिनिशन में अलग-अलग कैमरा एंगल की कई स्ट्रीम्स दिखा सकता है.

RIL के प्रेजिडेंट किरन थॉमस ने इस बारे में कहा एयरफाइबर के इस्तेमाल से ग्राहक एक तरह से वर्चुअल पीसी – जियो क्लाउड पीसी यूज करने का विकल्प चुन सकते हैं. इसके लिए न किसी शुरुआती लागत की जरूरत होगी न ही अपग्रेड करने की. पर्सनल कंप्यूटर या फिर कई सारे PCs को जबरदस्त पावर देने के लिए यह काफी सस्ता तरीका होगा.

ये भी पढ़ें – देश की सबसे ज्यादा टैक्स देने वाली कंपनी बनी RIL, नौकरियां देने में भी रही नंबर 1

बड़ी-बड़ी कंपनियों के साथ समझौता
फिलहाल, भारत में 800 मिलियन कनेक्टेड डिवाइस हैं. अनुमान है कि भारत में 5G नेटवर्क के रोलआउट के बाद इसकी संख्या दोगुनी (1.5 बिलियन) हो जाएगी. Jio ने Meta, Google, Microsoft और Intel जैसे ब्रांडों के साथ समझौता किया है. कंपनी भारत में और भारत के लिए एक किफायती 5G स्मार्टफोन विकसित करने की दिशा में Google के साथ भी काम कर रही है. Jio ने क्वालकॉम के साथ रणनीतिक साझेदारी की है. इसका मतलब है कि आने वाले जियोफोन नेक्स्ट 5जी में क्वॉलकॉम प्रोसेसर होने की संभावना है.

Tags: JIO News, JIO Service, Reliance AGM, Reliance industries, Reliance Jio

Previous articleIND vs PAK: पाकिस्तान के पूर्व कोच बोले- ऐसा लगा मानो भारत 12 खिलाड़ियों के साथ खेल रहा है
Next article‘बाबर आजम के आउट होने पर हमने नहीं सोचा कि आधी पाक टीम लौट गई…’ भुवनेश्वर ने बताया अपना गेम प्लान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here