Vodafone-Idea के करोड़ों ग्राहकों का कॉल डेटा लीक होने का दावा, कंपनी ने किया इनकार

31

हाइलाइट्स

साइबरएक्स9 ने दावा किया है कि वोडाफोन-आइडिया के 2 करोड़ पोस्टपेड ग्राहकों का कॉल डेटा लीक हुआ है.
Vodafone-Idea ने कहा बिल सिस्टम में मौजूद खामियों के बारे में पता चलते ही उन्हें दुरुस्त कर दिया गया था.
Vi ने कहा हम नियमित रूप से जांच करते हैं और अपने सुरक्षा प्रारूप को और मजबूत करते हैं.

नई दिल्ली. साइबर सुरक्षा शोध कंपनी साइबरएक्स9 ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि दूरसंचार ऑपरेटर वोडाफोन आइडिया की प्रणाली में मौजूद खामियों के चलते लगभग दो करोड़ पोस्टपेड ग्राहकों का कॉल डेटा रिकॉर्ड सार्वजनिक हो गया है. हालांकि कंपनी ने इससे इनकार करते हुए कहा कि डेटा में कोई सेंधमारी नहीं हुई है. कंपनी के मुताबिक, उसकी बिल प्रणाली में मौजूद खामियों के बारे में पता चलते ही उन्हें दुरुस्त कर दिया गया था.

इससे पहले, साइबरएक्स9 की रिपोर्ट में कहा गया कि प्रणालीगत खामियों की वजह से वोडाफोन आइडिया के करीब दो करोड़ पोस्टपेड ग्राहकों के कॉल डेटा रिकॉर्ड सामने आ गए. इसमें कॉल करने का वक्त, कॉल की अवधि, किस स्थान से कॉल किया गया, ग्राहक का पूरा नाम और पता, एसएमएस विवरण समेत वे कॉन्टेक्ट नंबर भी सामने आ गए जिन पर संदेश भेजे गए थे.

(ये भी पढ़ें- सिर्फ WhatsApp के लिए बंद कर सकते हैं मोबाइल इंटरनेट, बचेगा काफी सारा डेटा)

साइबरएक्स9 के संस्थापक एवं प्रबंध निदेशक हिमांशु पाठक ने कहा कि कंपनी ने इस बारे में वोडाफोन आइडिया को जानकारी दी थी और कंपनी के एक अधिकारी ने 24 अगस्त को ऐसी समस्या को स्वीकार भी किया था.

इसपर वोडोफोन आइडिया ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा, ‘रिपोर्ट में डेटा में सेंध की बात कही गई है लेकिन ऐसा नहीं हुआ. यह रिपोर्ट गलत और दुर्भावनापूर्ण है. कंपनी के पास मजबूत आईटी सुरक्षा ढांचा है जिससे हमारे ग्राहकों का डेटा सुरक्षित रहता है.

(ये भी पढ़ें- Redmi से लेकर iQoo तक, इस हफ्ते लॉन्च हुए ये धाकड़ स्मार्टफोन, मिलेगी दमदार बैटरी)

ठीक कर दी गई है दिक्कत
कंपनी ने आगे कहा, ‘हम नियमित रूप से जांच करते हैं और अपने सुरक्षा प्रारूप को और मजबूत करते हैं. बिल भेजने में संभावित खामी का पता लगा था और उसमें तुरंत सुधार किया गया. कोई डेटा सेंधमारी का पता लगाने के लिए फॉरेंसिक विश्लेषण भी किया गया.’

हालांकि साइबरएक्स9 का कहना है कि कंपनी ने लाखों ग्राहकों का कम-से-कम दो साल का कॉल डेटा और दूसरी संवेदनशील डेटा सार्वजनिक कर दिया और कई आपराधिक हैकर्स ने उस डेटा को चुरा लिया होगा. साइबरएक्स9 ने फॉरेंसिक ऑडिट करवाने और डेटा में कोई सेंध नहीं लगने के दावे को गलत बताया.

Tags: Data leak, Tech news, Vodafone

Previous articleAsia Cup 2022: दिनेश कार्तिक ने हार्दिक पांड्या के सामने झुकाया सर, VIDEO देख होगा गर्व
Next articleभारत की 4 गलतियां, जिनके कारण फिसल रहा था हाथ से मैच, पाकिस्तान हारकर भी दे गया सबक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here