WhatsApp पर महिला के साथ 21 लाख रुपये की ठगी, सेफ रहने के लिए न करें ये गलती

11

हाइलाइट्स

आंध्र प्रदेश में स्कैमर्स ने एक सेवानिवृत्त शिक्षक के अकाउंट से 21 लाख रुपये चोरी कर लिए.
रिपोर्ट्स के मुताबिक पीड़िता को एक अनजान कॉन्टैक्ट से वॉट्सऐप लिंक मिला था
लिंक पर क्लिक करने के बाद स्कैमर ने उसका अकाउंट हैक कर लिया था.

नई दिल्ली. पिछले कुछ वर्षों में ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामलों में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है, खासकर महामारी के कारण जब लोग लगभग हर चीज के लिए इंटरनेट पर निर्भर थे. ऐसे में स्कैमर यूजर्स को बरगलाने और उनको ठगने के लिए वॉट्सऐप का उपयोग करना शुरू कर दिया. इसके बाद आए दिन वॉट्सऐप पर धोखाझड़ी के मामले सामने आ रहे हैं. ताजा मामला आंध्र प्रदेश से सामने आया है, जहां स्कैमर्स ने एक सेवानिवृत्त शिक्षक को बरगलाया और उसके लाखों रुपये चोरी कर लिए.

हालांकि कुछ स्टेप्स फॉलो करके इससे बचा जा सकता है. ऑनलाइन ठगी से बचने के लिए लोगों को थोड़ा सतर्क रहने की भी जरूरत है. इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए पुलिस द्वारा सुझाव भी जारी किए गए है.  इन सुझावों को फॉलो करके आप इस तरह की ठगी से खुद को बचा सकते हैं.

क्या है मामला?
अन्नामय्या जिले के मदनपल्ले में रहने वाली वरलाक्षी ने ‘money has been deducted’ का मैसेज मिलने के बाद स्थानीय पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक पीड़िता को एक अनजान कॉन्टैक्ट से वॉट्सऐप लिंक मिला था, जिसके बाद महिला ने उस लिंक पर क्लिक किया और फिर उसके अकाउंट से पैसे कट गए. जानकारी के मुताबिक लिंक पर क्लिक करने के बाद स्कैमर्स ने उसके बैंक अकाउंट को हैक कर लिया और फिर उसके अकाउंट से एक ही बार में 21 लाख की राशि डेबिट कर दी.

महिला ने पुलिस को सूचना दी
स्कैमर्स ने जब महिला के बैंक अकाउंट को खाली कर दिया, तो उसके बाद उसने बैंक से संपर्क किया और उसे सूचित किया कि उसके अकाउंट से छेड़छाड़ की गई है और उसके खाते से 21 लाख रुपये चोरी हो गए हैं. इसके बाद उसने साइबर क्राइम डिपार्टमेंट को इसकी सूचना दी.

यह भी पढ़ें- सिर्फ WhatsApp के लिए बंद कर सकते हैं मोबाइल इंटरनेट, बचेगा काफी सारा डेटा

वॉट्सऐप पर मिला था लिंक
इस संबंध में पुलिस ने कहा कि पीड़िता द्वारा वॉट्सऐप लिंक पर क्लिक करने के बाद पैसे डेबिट किए गए थे. पुलिस अधिकारियों ने यह भी कहा कि वॉट्सऐप लिंक के जरिए साइबर क्राइम के मामलों में हाल के दिनों में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है. ऐसे मामलों में स्कैमर्स यूजर्स को मलिशस लिंक भेजते हैं, जो रियल और Authentic लगते हैं. लिंक पर क्लिक करने पर स्कैमर्स को पीड़ित के फोन और बैंक अकाउंट सहित पर्सनल जानकारी तक एक्सेस मिल जाता है.

ऐसे घोटालों से कैसे सुरक्षित रहें?
वॉट्सऐप के जरिए बढ़ती साइबर धोखाधड़ी की घटनाओं को देखते हुए ऐसे घोटालों की पहचान करना मुश्किल है. हालांकि, कुछ तरकीबें हैं जिनका उपयोग करके आप ऐसे घोटालों की पहचान कर सकते हैं. वॉट्सऐप पर फ्रॉड से बचने के लिए किसी अनजान व्यक्ति या नंबर से मिलने वाले लिंक पर कभी भी क्लिक न करें. यह सुनिश्चित करें कि लिंक Authentic है या नहीं. इसके लिए यूआरएल की ठीक से जांच करें. केवल उसी लिंक पर क्लिक करें, जो आधिकारिक वेबसाइट से आया हो.

इसके अलावा ‘gov.in.co’ या ‘co.com’ जैसे फिशी एक्सटेंशन वाले लिंक पर क्लिक करने से बचें, जो प्रामाणिक तो दिखते हैं लेकिन होते नहीं हैं. Monetary बेनेफिट्स का दावा करने वाले लिंक या मैसेज पर कभी भी क्लिक न करें. इस तरह के मैसेज ज्यादातर स्कैमर्स द्वारा भेजे जाते हैं. ऐसे मैसेज कभी भी दूसरों के साथ शेयर न करें.

Tags: Social media, Tech news, Tech News in hindi, Whatsapp, WhatsApp Account

Previous articleGalaxy Z Flip 4 के हार्डवेयर में बदलाव, डिस्प्ले ओपन किए बिना यूज कर सकेंगे ऐप्स
Next articleAmazon ऐप पर 5 आसान सवालों का जवाब देकर जीत सकते हैं 500 रुपये, मिल रहा है मौका

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here